नई दिल्ली । भारतीय दिग्गज मिताली राज का मानना है कि महिला आईपीएल शुरू करने के लिए अब और इंतजार नहीं किया जा सकता। उन्होंने ने कहा कि बीसीसीआई को अगले साल से इसका आयोजन शुरू करना चाहिए। मिताली ने कहा, 'मुझे निजी तौर पर लगता है कि महिलाओं के लिए आईपीएल अगले साल से शुरू किया जाना चाहिए, भले ही यह नियमों में बदलाव के साथ छोटे पैमाने पर आयोजित किया जाए। पहले सीजन में हमें भले ही पुरुषों के आईपीएल के उलट टीम में चार की जगह 5-6 विदेशी खिलाड़ी रखने की अनुमति हो। ' वनडे इंटरनैशनल क्रिकेट में 6888 रन बना चुकीं मिताली ने कहा, 'आप हमेशा इंतजार नहीं कर सकते, आपको कभी तो शुरुआत करनी ही होगी और आखिर में साल दर साल, आप लीग को और बड़ा कर सकते हैं और फिर से चार विदेशी खिलाड़ियों तक ला सकते हैं।' 
भारतीय वनडे कप्तान ने 16 साल की शेफाली वर्मा का उदाहरण देते हुए इस लीग की अहमियत को समझाया। उन्होंने कहा कि टी20 वर्ल्ड कप का सबसे बड़ा और सकारात्मक नतीजा शेफाली हैं और उन्हें वनडे टीम में भी जगह मिलनी चाहिए। उन्होंने कहा, 'शेफाली के वनडे टीम में आने के बारे में सोचना बुरा नहीं है। वह काफी युवा हैं लेकिन वनडे में उन्हें मौका नहीं देने का यह कारण नहीं होना चाहिए।'पूर्व भारतीय बल्लेबाज का कहना है कि महिला आईपीएल शुरू करने का यह सही समय है क्योंकि इससे भारतीय महिला क्रिकेट को नई प्रतिभाएं मिलेंगी। करियर में अब तक 209 वनडे, 10 टेस्ट और 89 टी20 इंटरनैशनल मैच खेल चुकीं राज ने इस पर सहमति जताते हुए कहा, 'हमारे पास घरेलू क्रिकेट में ज्यादा गहराई नहीं है लेकिन इसका हल पहले से मौजूद फ्रैंचाइजी की टीम बनाना है, भले ही उनमें से 5-6 प्रक्रिया शुरू करने के लिए उत्सुक हैं क्योंकि किसी पहले बीसीसीआई के पास चार टीमें (महिला टी 20 चैलेंज में) थीं।'  भारत की सबसे अनुभवी महिला क्रिकेटर ने दिग्गज सुनील गावसकर के उस बयान का समर्थन किया, जो उन्होंने आईसीसी महिला टी20 वर्ल्ड कप फाइनल में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ भारत की हार के बाद दिया था।