Saturday, 17 August 2019, 5:11 PM

धर्म कर्म

श्रीकृष्ण ने क्यों दिया पांडवों का साथ, जबकि धर्म के मार्ग पर वे भी नहीं थे?

Updated on 31 May, 2019, 6:00
कहते हैं कि श्रीकृष्ण ने धर्म व सत्य का साथ दिया। उन्होंने कौरवों का साथ नहीं दिया, क्योंकि माना जाता था कि कौरव पापी और अधर्मी थे। कौरव जिद्दी, छली और कामी थे, लेकिन क्या पांडव ये सब नहीं थे? कौरव पक्ष के कर्म- भीष्म ने गांधारी की इच्छा के विरुद्ध धृतराष्ट्र... आगे पढ़े

बजरंगबली को इसलिए प्रिय है सिंदूर

Updated on 30 May, 2019, 7:00
हिंदू धर्म के अनुसार मंगलवार का दिन मंगलमूर्ति की उपासना के लिए सबसे मंगलकारी होता है। मान्यता है कि आज के दिन हनुमान जी को प्रसन्न करना बेहद आसान होता है। इस दिन बजरंगबली के भक्त उन्हें अलग अलग उपाय करके प्रसन्न करने की कोशिश करते हैं ऐसे ही उपायों... आगे पढ़े

शुभ कार्यों में मंगल की होती है अहम भूमिका 

Updated on 30 May, 2019, 6:45
मंगल कार्य में सबसे बड़ी भूमिका स्वयं मंगल की होती है। इसके बाद इसमें तमाम शुभ ग्रहों की भूमिका होती है। गुरु भी शुभ और मंगल कार्यों में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। शनि, राहु और केतु मंगल कार्यों में आम तौर पर बाधा देते हैं। मंगल जब ख़राब हो तो... आगे पढ़े

अपनी हथेली के से जानिये भविष्य 

Updated on 30 May, 2019, 6:30
भविष्य की बातें जानने की उत्कंठा सभी के मन में होती है। इसके लिए लोग ज्योतिषियों के पास जाते हैं। अगर आप चाहें तो  हथेलियों से और उसके रंग से भाग्य के बारे में महत्वपूर्ण जानकारियाँ मिल सकती हैं।  हथेलियों के रंग से स्वभाव , स्वास्थ्य और आर्थिक स्थिति के बारे... आगे पढ़े

बद्रीनाथ धाम से जुड़ी है ये मान्यता 

Updated on 30 May, 2019, 6:00
बद्रीनाथ धाम हिन्दुओं के चार धामों में से एक धाम है। यह अलकानंदा नदी के किनारे उत्तराखंड राज्य में स्थित है। यहां भगवान विष्णु 6 माह निद्रा में रहते हैं और 6 माह जागते हैं। बद्रीनाथ धाम से जुड़ी  ये बातें अहम हैं।  बद्रीनाथ धाम से जुड़ी एक मान्यता है कि... आगे पढ़े

महाभारत के युद्ध में इन 3 लोगों ने बदल लिया था पाला

Updated on 29 May, 2019, 6:15
महाभारत का युद्ध विचित्रताओं से भरा हुआ है। कौरव पक्ष के बहुत से लोग पांडवों की ओर से लड़े तो पांडव पक्ष के लोग कौरवों की ओर से लड़े से। ऐसे भी थे जिन्होंने युद्ध तय होने के बाद अपना पाला बदल लिया था। आओ जानते हैं कि ऐसे कौन... आगे पढ़े

कब बनेगा अपना घर, कब आएगी अपनी गाड़ी, क्या कहती है कुंडली आपकी

Updated on 29 May, 2019, 6:00
दुनिया में हर किसी की यही जरूरत है कि उसका अपना एक घर हो और उसका अपना वाहन हो। आइए जानें कुंडली के कौन से योग आपको वाहन और घर का सुख दे सकते हैं और इन्हें पाने के लिए क्या किया जा सकता है? * अपना घर खरीदने या बनाने... आगे पढ़े

क्या रत्नों से संभव है औषधीय उपचार, जानिए कैसे करें रोगों का नाश

Updated on 28 May, 2019, 6:15
रत्न विज्ञान के अनुसार हजारों वर्षों से वैद्य रत्नों की भस्म और हकीम रत्नों की षिष्टि प्रयोग में ला रहे हैं। रसराज समुच्चय के अनुसार, हीरे में विशेष गुण यह है कि रोगी यदि जीवन की अंतिम सांस ले रहा हो, ऐसी अवस्था में हीरे की भस्म की एक खुराक... आगे पढ़े

बिल्वपत्र के फायदे तो जानते हैं लेकिन क्या इसकी जड़ के 6 लाभ पता हैं आपको

Updated on 27 May, 2019, 6:30
जिस प्रकार भगवान शि‍व के पूजन एवं शिव की कृपा प्राप्ति के लिए बिल्वपत्र और उसके वृक्ष का महात्म्य है, उसी प्रकार बिल्वपत्र के वृक्ष की जड़ का भी विशेष महत्व होता है। इसे पूजन के साथ-साथ औषधि के रूप में प्रयोग किया जाता है। यदि आप नहीं जानते तो... आगे पढ़े

रो‍हिणी नक्षत्र में सूर्य, मनोकामना पूरी करने के लिए सिर्फ 1 सेकंड में पढ़ लीजिए यह 1 मंत्र

Updated on 27 May, 2019, 6:00
रो‍हिणी नक्षत्र में जब सूर्य आते हैं तब सूर्य आराधना के साथ अपने इष्ट देव की आराधना भी शुभ होती है। जानिए, आपकी राशि अनुसार सूर्य का कौन-सा नाम है आपके लिए शुभ     है... मेष : ॐ अचिंत्याय नम: वृषभ : ॐ अरुणाय नम: मिथुन : ॐ आदि-भुताय नम: कर्क : ॐ वसुप्रदाय नम: सिंह... आगे पढ़े

क्या आप जानते हैं आपकी कुंडली में लिखे हैं अचानक धन प्राप्ति के विशेष योग, पढ़ें 15 खास बातें

Updated on 26 May, 2019, 6:30
जानिए कुंडली और अनायास धन‍ प्राप्ति योग, पढ़ें 15 खास बातें * लग्नेश द्वितीय भाव में तथा द्वितीयेश लाभ भाव में हो। * चंद्रमा से तीसरे, छठे, दसवें, ग्यारहवें स्थानों में शुभ ग्रह हों। * पंचम भाव में चंद्र एवं मंगल दोनों हों तथा पंचम भाव पर शुक्र की दृष्टि हो। * चंद्र व... आगे पढ़े

अगर आपको भी आते हैं सपनों में घर, तो जीवन पर होगा ऐसा असर, पढ़ें 13 रोचक बातें

Updated on 26 May, 2019, 6:15
हम में से हर व्यक्ति अनेक सपने संजोए रहता है और सपनों में ज्यादातर हम वही देखते हैं, जो हमारे दैनिक जीवन की किसी घटना या स्‍थान से संबंधित होते हैं। सपनों की दुनिया भी काफी सूक्ष्म है। सपने देखने के क्रम में ऐसे स्थान या दृश्य दिखाई पड़ते हैं जिसे... आगे पढ़े

महाभारत काल के ये 9 लोग आज भी हैं जिंदा

Updated on 26 May, 2019, 6:00
महाभारत के युद्ध के बाद बहुत से योद्धा बच गए थे। उनमें प्रमुख 18 थे। महाभारत के युद्ध के पश्चात कौरवों की तरफ से 3 और पांडवों की तरफ से 15 यानी कुल 18 योद्धा ही जीवित बचे थे जिनके नाम हैं- कौरव के : कृतवर्मा, कृपाचार्य और अश्वत्थामा, जबकि... आगे पढ़े

इस साल शुक्र कब-कब बदलेंगे अपनी चाल, जानिए सारे गोचर एक साथ

Updated on 24 May, 2019, 6:15
ज्योतिष में शुक्र शुभ ग्रह के रूप में प्रतिष्ठित है। यह स्त्री ग्रह है। इसका संबंध कला, सौंदर्य और प्रेम से है। यह वृष और तुला राशि का स्वामी है। वृष राशि आकर्षक व्यक्तित्त्व का प्रतीक है तहा तुला शिष्ट और न्यायपूर्ण व्यवहार का द्योतक है। शुभ स्थिति में होने... आगे पढ़े

25 मई से नौतपा आरंभ, 3 जून तक होगी भीषण गर्मी और तपन, ऐसा होगा मौसम का हाल

Updated on 24 May, 2019, 6:00
25 मई 2019 से नौतपा आरंभ होंगे। नौतपा के दिनों में मौसम का अलग-अलग प्रभाव देखने मिलेगा। रोहिणी में नौतपा के 9 दिन के दौरान गर्मी बढ़ने के साथ तेज हवा व आंधी चलने के भी योग बन रहे हैं। 25, 26 और 27 मई को तपिश बढ़ेगी। इस दौरान... आगे पढ़े

भगवान श्रीकृष्ण की ये बातें आज भी हैं प्रासंगिक

Updated on 23 May, 2019, 7:00
आधुनिक जीवन में सफलता का अर्थ पैसों और सुख-सुविधा की चीजों से जुड़ा हुआ है। आप जितना भी धन कमा लेंगे दुनिया आपको उतना ही कामयाबी कहेगी, अंधाधुध पैसे कमाने की होड़ में कोई व्यक्ति ये नहीं सोचता कि उससे भौतिक दुनिया की सुख-सुविधा कमाने के कारण कितने पाप हो... आगे पढ़े

भगवान विष्णु को लगायें चने-गुड़ का भोग  

Updated on 23 May, 2019, 6:45
जगत के पालनकर्ता भगवान विष्णु की गुरुवार के दिन विधि-विधान से पूजा की जाती है। इस दिन अपने मनोकामनाओं की पूर्ति के लिए लोग व्रत रहते हैं, केले के पौधे की पूजा करते हैं, पीली वस्तुओं का दान करते हैं और भगवान को चने या चने की दाल और गुड़... आगे पढ़े

ढैय्या और साढ़ेसाती के संकेत समझें  

Updated on 23 May, 2019, 6:30
शनिदेव को न्याय का देवता कहा जाता है। ऐसी मान्यता है कि शनिदेव का प्रभाव एक राशि पर ढाई या सात साल तक रहता है। इस वजह से व्यक्ति को शारीरिक, मानसिक और आर्थिक पीड़ा उठानी पड़ सकती है।ज्योतिष के अनुसार, जब शनिदेव का प्रभाव राशि पर होता है तो... आगे पढ़े

सूर्य देव को जल चढ़ाने के लाभ  

Updated on 23 May, 2019, 6:15
सनातन धर्म की मान्यता के अनुसार सूर्य देव असीम ऊर्जा के स्रोत हैं, यह हमें मान सम्मान और प्रतिष्ठा दिलाते हैं। इसलिए रविवार के दिन सूर्य देव को अघ्र्य देने (जल चढ़ाने)  और उनकी पूजा से विशेष लाभ मिलता है। ऐसी मान्यता है कि प्रत्येक दिन सूर्य देव को जल... आगे पढ़े

केदारनाथ धाम का महत्व 

Updated on 23 May, 2019, 6:00
सनातन धर्म में बद्रीनाथ और केदारनाथ धाम के दर्शनों का सबसे ज्यादा महत्व है। केदारनाथ मंदिर की मान्यता यह भी है कि जो व्यक्ति केदारनाथ के दर्शन किये बिना बद्रीनाथ की यात्रा करता है। उसकी यात्रा निष्फल मानी जाती है। केदारनाथ मंदिर की मान्यता यह है कि केदारनाथ भगवान शिव... आगे पढ़े

अल्लाह पर ईमान और मगफिरत का रोशनदान है 16वां रोजा

Updated on 22 May, 2019, 6:45
इबादत इमारत की तरह है, ईमान बुनियाद की मानिन्द है। इस्लाम मजहब अल्लाह (ईश्वर) पर ईमान लाना और अल्लाह के पैगंबर के अहकामे शरीअत को दिल से तस्लीम (स्वीकार) करना दरअसल मगफिरत (मोक्ष) का सिलसिला मानता है। रोजा भी इसी की एक कड़ी है। चूंकि रमजानुल-मुबारक के बयान की यह... आगे पढ़े

मृत्यु क्या है, क्या कहते हैं शास्त्र?

Updated on 22 May, 2019, 6:30
शास्त्र के सूत्रों और वचनों को यदि भलीभांति व सही परिप्रेक्ष्य में ना समझा जाए तो वे लाभप्रद होने के स्थान पर हानिकारक भी सिद्ध हो सकते हैं। अक्सर उचित एवं सटीक व्याख्या ना होने पर अर्थ का अनर्थ कर शास्त्रों के सूत्रों व निर्देशों के प्रति भ्रांतियां निर्मित कर... आगे पढ़े

कितना तपेगा नौतपा 2019, कब से कब तक है, क्या ग्रह संयोग बन रहे हैं

Updated on 22 May, 2019, 6:15
नौतपा, नवतपा, रोहिणी जैसे नामों से पहचाने जाने वाले तपते-जलते 9 दिन आने वाले हैं। आइए जानें नौतपा से जुड़ी 7 प्रमुख बातें.... 1. ज्योतिषियों के अनुसार नवतपा इस साल 25 मई को सुबह 10.33 बजे सूर्य के रोहिणी नक्षत्र में प्रवेश करने के साथ शुरू हो जाएगा और 3 जून... आगे पढ़े

लाल किताब के अनुसार शहद के 10 चमत्कारिक प्रयोग

Updated on 22 May, 2019, 6:00
शहद एक ऐसी एंटीबायोटि‍क औषधि है, जो पूर्णत: प्राकृतिक है। सेहत और सुंदरता के लिए शहद का प्रयोग किया जाता है, लेकिन हम आपको बता रहे हैं इसके 10 ऐसे उपाय जिसका उल्लेख लाल किताब और ज्योतिष शास्त्रों में मिलता है। हालांकि उपाय तो और भी है। इन उपायों को... आगे पढ़े

भारत की 15 महत्वपूर्ण गुफाएं, आप भी जाकर कीजिए पीएम मोदी की तरह साधना

Updated on 21 May, 2019, 6:45
हाल ही में पीएम नरेंद्र मोदी ने केदारनाथ की एक रुद्र नाम की एक गुफा में 17 घंटे अकेले रहकर ध्यान और साधना की। हिन्दुस्तान के बाहर बलोचिस्तान, पाकिस्तान, अफगानिस्तान, नेपाल, बांग्लादेश, बर्मा, इंडोनेशिया, थाईलैंड, मलेशिया, कंबोडिया और श्रीलंका में हिन्दू और बौद्ध धर्म से जुड़ी हजारों गुफाएं आज भी... आगे पढ़े

घर में तुलसी है तो तुलसी की ये 5 बातें आपके काम की है...

Updated on 21 May, 2019, 6:30
1. तुलसी के बारे में हिंदू मान्यताओं में बताया गया है कि हर घर के बाहर तुलसी का पौधा होना अनिवार्य है। इतना ही नहीं, बल्कि जो व्यक्ति प्रतिदिन तुलसी का सेवन करता है, उसका शरीर अनेक चंद्रायण व्रतों के फल के समान पवित्रता प्राप्त कर लेता है। 2.जल में तुलसीदल... आगे पढ़े

21 मई को है सबसे बड़ा मंगलवार, जानिए क्यों कहते हैं इसे बड़ा मंगलवार, क्या करें उपाय

Updated on 21 May, 2019, 6:15
इस बार ज्येष्ठ का पहला बड़ा मंगलवार 21 मई को आ रहा है। आज के दिन भगवान हनुमान जी जो कुछ भी मांगा जाए वह उसे अवश्य पूरा करते हैं। भगवान शिव के 11 वें अवतार हनुमान जी को अमर रहने का वरदान मिला था। क्यों कहते हैं बड़ा मंगलवार :... आगे पढ़े

गुण मिलान क्या है, शादी कर रहे हैं तो पहले जान लें इसका मतलब...

Updated on 20 May, 2019, 7:00
विवाह से पूर्व वर कन्या की जन्म पत्रिकाओं के मिलान करने को 'मेलन-पद्धति' कहा गया था। कालांतर में यही पद्धति अलग-अलग क्षेत्रों में 'मिलान पत्रक', 'गुण मिलान', 'मिलान' तथा 'मेलापक' के रूप में प्रचलित हुई। ज्योतिष शास्त्र को सूचक शास्त्र भी कहा गया है। अतः दाम्पत्य जीवन रथ में बंधने से... आगे पढ़े

शिव तिलक लगाने से सेहत को मिलता है चमत्कारिक लाभ

Updated on 20 May, 2019, 6:45
त्रिपुंड की तीन रेखाएं हैं, भृकुटी के अंत में मस्तक पर मध्यमा आदि तीन अंगुलियों से भक्तिपूर्वक भस्म का त्रिपुंड लगाने से भक्ति मुक्ति मिलती है। इसे शिव तिलक भी कहते हैं। यह शरीर की तीन नाड़ियों इड़ा, पिंगला और सुषुम्ना का भी प्रतिनिधित्व करती हैं। इसे लगाने से ना सिर्फ... आगे पढ़े

भगवान शिव के जन्म की पौराणिक कहानी : जानिए कब, कहां और कैसे प्रकट हुए शिव

Updated on 20 May, 2019, 6:30
हम सबके प्रिय भगवान शिव का जन्म नहीं हुआ है वे स्वयंभू हैं। लेकिन पुराणों में उनकी उत्पत्ति का विवरण मिलता है। विष्णु पुराण के अनुसार ब्रह्मा भगवान विष्णु की नाभि कमल से पैदा हुए जबकि शिव भगवान विष्णु के माथे के तेज से उत्पन्न हुए बताए गए हैं। विष्णु... आगे पढ़े